विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम Chemical Name of Vitamin-B1

विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम Chemical Name of Vitamin-B1 

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम (Chemical Name of Vitamin-B1) में। दोस्तों इस लेख द्वारा आज आप विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम, रासायनिक सूत्र,

के साथ विटामिन बी 1 की कमी से रोग उपचार तथा विटामिन बी 1 के कार्य स्रोत और दैनिक आवश्यकता जानेंगे। तो आइये दोस्तो करते है, यह लेख शुरू विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम:-

विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम


विटामिन बी 1 क्या है What is Vitamin-B1 

विटामिन बी1 विटामिन बी कांपलेक्स का ही एक विटामिन है, जो एक तरह से कार्बनिक यौगिक (Organic Compound) होता है। विटामिन बी 1 जल में घुलनशील तथा वसा में अघुलनशील होता है।

यह विटामिन नाइट्रोजन युक्त तथा सह-विकार के रूप में उपापचय क्रियाओं में भाग लेता है। वास्तव में विटामिन बी 1 कार्बोहाइड्रेट और अमीनो अम्ल में

सह विकार का कार्य करता है, जबकि यह पाचन के लिए भी बहुत आवश्यक विटामिन होता है, किंतु अगर इसको अधिक आंच में पकाया जाता है, तो यह विटामिन नष्ट हो जाता है।


विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम Chemical Name of Vitamin-B1

विटामिन बी 1 विटामिन बी कांपलेक्स का प्रथम विटामिन होता है, जिसका रासायनिक नाम थाईमीन (Thiamine)  है, जबकि विटामिन बी 1 का रासायनिक फार्मूला C12H17ON4S होता है।

विटामिन बी 1 का संश्लेषण सबसे पहले विलियंस (willians) नामक वैज्ञानिक ने 1936 में किया था। प्रयोग के आधार पर यह भी बताया था, कि विटामिन b1 अमीनो अम्ल और कार्बोहाइड्रेट के उपापचय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


विटामिन बी 1 के स्रोत Source of Vitamin-B1

विटामिन बी 1 सबसे प्रचुर मात्रा में पादप बीजों के बाह्य आवरण में पाया जाता है। एक प्रकार से हम कह सकते हैं, कि गेहूं की संपूर्ण रोटी विटामिन b1 का सबसे अच्छा स्रोत है, जबकि डबल रोटी में यह बहुत कम पाया जाता है. इसके अलावा

विटामिन b1 फली वाली सब्जियों में, यकृत, वृक्क आदि में भी देखने को मिलता है। इसके अलावा चावल की भूसी, मांस, जिगर, ईस्ट, मछली, अंडा आदि मांसाहारी भोजन भी विटामिन b1 के प्रचुर मात्रा में स्रोत होते हैं।


विटामिन बी 1 की कमी से बीमारी Vitamin B1 deficiency disease

विटामिन बी 1 की कमी से सबसे प्रमुख रोग बेरीबेरी हो जाता है, जिसका सबसे पहले पता एडमिरल टकाटी ने 1887 में जापानी नागरिकों में किया था।

वर्तमान में यह रोग फिलीपींस दीप समूह, वियतनाम, थाईलैंड और म्यांमार के उन हिस्सों में अधिक देखने को मिलता है, जहाँ पर भोजन पॉलिश किए हुए चक्की के चावल से तैयार किया जाता है।

बेरी बेरी रोग परिधीय तंत्रिका तंत्र जठराना क्षेत्र, हृदय वाहिका तंत्रिका तंत्र को सबसे अधिक प्रभावित करता है।

बेरी बेरी दो प्रकार का होता है, शुष्क बेरी बेरी रोग और आद्र बेरी बेर।  शुष्क बेरी बेरी रोग में पेशी क्षय तथा शारीरिक भार में कमी जल्दी देखने को मिलती है, जबकि परिधीय तंत्रिका शोध तथा पेशी दुर्बलता के कारण रोगी लगभग असहाय हो जाता है।

विटामिन बी 1 की कमी के कारण शुष्क बेरी बेरी में मानसिक भ्रम स्पष्ट रूप से परिलक्षित होने लगते हैं, हृदय का आकार बढ़ने लगता है।

जबकि आद्र बेरी बेरी में शरीर में सामान्य सूजन देखने को मिलती है। विभिन्न प्रकार के शोध उत्पन्न होने लगते हैं, शरीर दुर्बल होता जाता है, जबकि शरीरिक कमजोरी भी तीव्र देखने को मिलती हैं।

बेरी बेरी नामक रोग में जीवन के विभिन्न लक्षणों में जीवन का उत्साह समाप्त हो जाता है, शरीर की वृद्धि रुक जाती है और तंत्रिका डीजनरेट होने लगती हैं।

विटामिन बी 1 की कमी से क्रेब्स वृक्र ठीक प्रकार से नहीं कार्य करता और अंत में हृदय काम करना बंद कर देता है और व्यक्ति की मृत्यु होने की संभावना तक बढ़ जाती है।


विटामिन बी 1 की अधिकता से बीमारी Vitamin B1 excess disease

अगर शरीर में विटामिन बी1 की मात्रा आधिक हो जाये तो शरीर में विभिन्न प्रकार की अनियमिततायें उत्पन्न हो जाती है। वैसे मनुष्य के शरीर में विटामिन बी 1 पानी के सहारे मूत्र द्वारा निकल जाता है, किन्तु कुछ परिस्थितियों में यह शरीर में संरक्षित रह जाता है,

तो इसकी बजय से शरीर में कई दुष्प्रभाव देखने को मिलते है। इसकी अधिकता से घबराहट, बेचैनी और सुस्ती रहती है। कभी - कभी व्यक्ति को अनिद्रा तथा एलर्जी शरीर पर लाल चकते त्वचा सम्बंधित रोग होने लगते है।


विटामिन बी 1 के कार्य Function of Vitamin-B1

विटामिन बी 1 सह एंजाइम थायमीन पायरोफॉस्फेट (Thiamine pyrophosphate) का ही एक घटक होता है और यह कार्बोहाइड्रेट के उपायचयन ( पायरोवेट अथवा अल्फा कीटोग्लूटारेट का ऑक्सीकरण बाइकार्बोकिसलीकरण) के लिए

बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। साधारण भाषा में कह सकते हैं, कि विटामिन बी 1 का सबसे प्रमुख कार्य कार्बोहाइड्रेट अमीनो अम्ल उपापचय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाना होता है।

कार्बोहाइड्रेट के उपापचय में महत्वपूर्ण भूमिका होने के कारण शरीर में ऊर्जा का प्रवाह होता है, शरीर ऊर्जावान बनता है।

विटामिन बी 1 मोतियाँबिंद को रोकने का कार्य करता है, तथा ह्रदय रोगों से ह्रदय को बचाने में अहम भूमिका निभाता है।

पाचन क्रिया विटामिन बी 1 की मदद से ठीक प्रकार से होती है, जबकि लाल रक्त कोशिका को बढ़ाने में तथा अल्जाइमर रोग को रोकने में विटामिन बी 1 काफी सहायक होता है।


विटामिन बी 1 की दैनिक आवश्यकता Daily requirement of vitamin बी 1

अगर शरीर में विटामिन B1 की कमी के लक्षण दिखाई देते हैं, तो इसका मतलब यह होता है, कि शरीर में विटामिन बी 1 की कमी होने लगी है। ऐसी स्थिति में ह्रदय ठीक प्रकार से कार्य नहीं करता है,

शरीर रोग ग्रस्त होता जाता है। तब विटामिन बी 1 युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अवश्य करना चाहिए। वैसे विटामिन बी 1 की दैनिक आवश्यकता सभी वयस्क पुरुषों के लिए 0.9 से 1.6mg/ day होना चाहिए।

दोस्तों आपने यहाँ पर विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम (Chemical Name of Vitamin-B1) पढ़ा। आशा करता हुँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

  • इसे भी पढ़े:-
  1. विटामिन बी 5 क्या है कमी रोग लक्षण What is vitamin B5
  2. विटामिन बी 12 क्या है कमी रोग लक्षण What is vitamin B12
  3. विटामिन डी क्या है कमी रोग कैप्सूल What is vitamin डी
  4. विटामिन k का रासायनिक नाम कमी रोग लक्षण Chemical name of Vitamin K
  5. विटामिन सी क्या है कमी रोग लक्षण What is Vitamin -C

Post a Comment

और नया पुराने
close