पोषक तत्व किसे कहते है वर्गीकरण what is nutrients classification

पोषक तत्व किसे कहते है वर्गीकरण what is nutrients classification 

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख पोषक तत्व किसे कहते है वर्गीकरण (what is nutrients classification)  में।

दोस्तों इस लेख के माध्यम से आप पोषक तत्व किसे कहते है? पोषक तत्वों का वर्गीकरण के साथ अन्य तथ्यों के बारे में जानेंगे तो आइये दोस्तों करते है शुरू यह लेख पोषक तत्व किसे कहते है वर्गीकरण:-


इसे भी पढ़े:- कुष्ठ रोग की दवा और जानकारी Leprosy medicine and information


पोषक तत्व किसे कहते है वर्गीकरण


पोषक तत्व किसे कहते हैं what is nutrients 

भोजन में उपस्थित वे सभी तत्व जो शरीर को ऊर्जा, वृद्धि विकास तथा रोगों से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, उन सभी को पोषक तत्व कहा जाता है।

शरीर को पोषण प्रदान करने वाले भोजन में रासायनिक पदार्थों का संयोजन होता है, जिसमें लगभग 50 से अधिक रासायनिक पदार्थ पाए जाते हैं,

किंतु आवश्यकता के अनुसार दृष्टिकोण से उनको छह प्रमुख समूह में बांट दिया गया है, इन्हीं छह समूह को प्रमुख रूप से पोष्टिक तत्वों के नाम से जाना जाता है।

  • कार्बोहाइड्रेट Carbohydrate 

कार्बोहाइड्रेट कार्बन हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के मिलने से बनने वाले रासायनिक पदार्थ होते हैं। इनमें हाइड्रोजन और ऑक्सीजन का अनुपात जल के समान 2:1 होता है।

कार्बोहाइड्रेट की एक इकाई को मोनोसैकेराइड दो इकाई को डाईसैकेराइड और 2 से अधिक इकाई के यौगिकों को पॉलिसैकेराइड के नाम से जाना जाता है।

कार्बोहाइड्रेट प्रमुख रूप से चावल, मक्का, गेहूँ, बाजरा, आलू, चुकंदर, शकरकंद, जमीकंद आदि में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। शरीर में विभिन्न प्रकार की दैनिक क्रियाओं में जो ऊर्जा लगती है, उस उर्जा की प्राप्ति कार्बोहाइड्रेट के द्वारा ही होती है।  

  • प्रोटीन Protein 

प्रोटीन भी शरीर के लिए एक प्रमुख पोषक तत्व होता है, जो शरीर की वृद्धि और विकास के लिए बहुत ही आवश्यक माना जाता है। शरीर में विभिन्न क्रियाकलापों में जब कोशिकाओं में टूट-फूट हो जाती है,

तब उनकी  रिपेयरिंग के लिए प्रोटीन ही आवश्यक होती है। प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट की तरह ही कार्बन हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के मिलने से बनते हैं,

जबकि इनकी सबसे छोटी इकाई को अमीनो अम्ल के नाम से जाना जाता है। शरीर की प्रत्येक कोशिका प्रोटीन से निर्मित होती है, जबकि शरीर के अस्थि के तंतु,

त्वचा, बाल आदि भी प्रोटीन के निर्माण के बहुत ही आवश्यक घटक होते हैं इसीलिए प्रोटीन शरीर की आधारशिला मानी जाती है। 

  • वसा Fat 

कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की तरह ही वसा भी अत्यंत जटिल रासायनिक यौगिक होते हैं, जो कार्बन हाइड्रोजन और ऑक्सीजन से मिलकर बने हुए होते हैं।

यह प्रमुख रूप से गिलिसरोल एवं वसीय अम्लों का मिश्रण होते हैं जब इनको छूते हैं तो चिकनाई का अनुभव होता है। वसा शरीर में ऊर्जा उत्पादन के लिए प्रमुख रूप से जाने जाते हैं,

कियोकि 1 ग्राम वसा से शरीर में लगभग 9 किलो कैलोरी ऊर्जा प्राप्त हो जाती है। वसा प्रमुख रूप से जंतु जगत और वनस्पति जगत दोनों के

खाद्य पदार्थों से प्राप्त किए जाते हैं। पेड़ पौधों के बीज, दूध, मक्खन, कोड ऑफ लिवर ऑयल, यकृत आदि वसा के प्रमुख स्रोत होते हैं।

  • विटामिन Vitamin 

विटामिन भी एक प्रकार का पोषक तत्व है, जो शरीर में बहुत ही कम मात्रा में आवश्यक होते हैं, जो भोज्य पदार्थों के द्वारा शरीर में प्रवेश करते हैं।

इनका संश्लेषण शरीर में नहीं होता है। विटामिन भी कार्बनिक यौगिकों की तरह ही कार्बनिक योगिक होते हैं, जो कार्बन हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन के

सहयोग से मिलकर बने होते हैं। यह शरीर में होने वाले विभिन्न प्रकार की उपापचय क्रियाओ, शारीरिक वृद्धि तथा विभिन्न रोगों को रोकने के लिए उत्तरदाई होते हैं।

  • खनिज लवण Minerals 

खनिज लवण अकार्बनिक तत्व होते हैं, जो हमारे शरीर में लगभग 24% तक स्वतंत्र रूप से शरीर में उपस्थित होते हैं या फिर कार्बनिक पदार्थ के साथ संयुक्त रूप में रहते हैं। खनिज लवण हमारे शरीर का हिस्सा केवल 4% हिस्सा बनाते हैं,

किन्तु शारीरिक वृद्धि तथा विकास के लिए बहुत ही आवश्यक माने जाते हैं और वृद्धि विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाते हैं।

विभिन्न प्रकार के खनिज पदार्थ जैसे की कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सल्फेट, सोडियम, क्लोरीन व मैग्नीशियम, लोहा कोबाल्ट आयोडीन आदि ऐसे खनिज लवण होते हैं, जो शरीर में कम मात्रा में

आवश्यक तो होते हैं, किंतु यह शरीर में होने वाले विभिन्न प्रकार की क्रियाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और कई प्रकार के रोगों से शरीर की रक्षा करते हैं।

  • जल Water 

जल जीवन के लिए बहुत ही आवश्यक होता है और यह शरीर के लिए सबसे प्रमुख पोषक तत्व माना जाता है, क्योंकि इसके बिना जीवन असंभव होता है।

ना केवल मनुष्य ही बल्कि संसार का हर एक प्राणी जल के अभाव में तुरंत ही मर जाता है। किन्तु जल किसी भी तरह का पोषक पदार्थ तो नहीं होता ना ही ऊर्जा प्रदान करता है, किंतु इसके बिना अन्य पोषक तत्व भी निष्फल हो जाते हैं और इसकी अहम

आवश्यकता के कारण इसको पोषक तत्वों की श्रेणी में रखा गया है और प्रमुख पोषक तत्व के नाम से जाना जाता है। यह हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के सहयोग से मिलकर बनता है।

दोस्तों इस लेख में आपने पोषक तत्व किसे कहते हैं पोषक तत्व का वर्गीकरण आदि तथ्यों के बारे में पढ़ा आशा करता हूँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

  • इसे भी पढ़े:-
  1. एचआईवी एड्स के कारण और लक्षण Causes and symptoms of HIV Aids
  2. पोषण किसे कहते है इसके प्रकार What is nutrition its type
  3. शारीरिक फिटनेस क्या है प्रकार What is physical fitness
  4. लिवर फ्लूक के लक्षण Symptoms of liver fluke


Post a Comment

और नया पुराने
Blogger sticky
close