शिक्षा के साधन Means of education

शिक्षा के साधन Means of education

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख शिक्षा के साधन (Means of education) में। दोस्तों यहाँ पर आप

शिक्षा के माध्यम पड़ेंगे कि वे कोनसे माध्यम है, जिनसे शिक्षा प्राप्त की जा सकें। तो आइये शुरू करते है, शिक्षा के साधन:-


इसे भी पढ़े:- स्वास्थ्य शिक्षा क्या है परिभाषा What is health education definition


शिक्षा के साधन


शिक्षा के साधन क्या है what is means of education

शिक्षा एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है, जो जन्म से प्रारंभ होकर मृत्युपर्यन्त तक चलती रहती है, जिसके अंतर्गत मनुष्य विभिन्न प्रकार के ज्ञान अनुभव प्राप्त करता है। शिक्षा जिन माध्यमों के द्वारा मनुष्य को प्राप्त होती है उन्हें शिक्षा का साधन कहा जाता है,

अर्थात कह सकते हैं, कि वे सभी माध्यम जिनके द्वारा एक व्यक्ति शिक्षित होता है उन्हें हम शिक्षा के साधन कह सकते हैं जो अनौपचारिक और औपचारिक दो प्रकार के होते हैं।


औपचारिक शिक्षा के साधन Means of non-formal education

शिक्षा के वे साधन जो निश्चित होते हैं, तथा जिन साधनों पर हमारा फोकस अधिक होता है, जिनके द्वारा ही हम अपने पैरों पर खड़े होते हैं, जीवन यापन की कला सीखते है, तथा शिक्षित होने का प्रमाण पत्र प्राप्त करते हैं, उन साधनों को हम अनौपचारिक शिक्षा के साधन के रूप में कह सकते हैं।

अनौपचारिक शिक्षा के साधन के रूप में वे सभी संस्थाएँ वे सभी स्थान आ जाते हैं, जहाँ पर नियमित रूप से शिक्षा दी जाती है। ऐसी संस्थाओं में ऐसे स्थलों पर निर्धारित समय होता है और वहाँ पर निर्धारित योग्यता और आयु वर्ग के बालकों को निर्धारित कक्षा में

बैठा कर उस कक्षा की निर्धारित शुल्क प्राप्त करके उन बच्चों को शिक्षित किया जाता है। ऐसे स्थलों पर निर्धारित परीक्षा कार्यक्रम भी होता है, जिसमें बालकों को सम्मिलित होना पड़ता है।

इन संस्थाओं में शिक्षण की प्रक्रिया शिक्षा की विधियाँ भी निश्चित होती हैं, इसके साथ ही शिक्षण का काल और समय भी निर्धारित किया जाता है। शिक्षा के औपचारिक साधन के रूप में शिक्षा प्रदान की जाती है, तब वह शिक्षा पद्धति पूर्ण पूर्व निश्चित नियोजित और पूर्व निर्धारित होती है।

शिक्षा के औपचारिक अभिकरण के रूप में पाठशाला और विद्यालयों को सबसे प्रमुख स्थान दिया जाता है, इसके बाद पुस्तकालय, वाचनालय, संग्रहालय और व्यायामशाला आते हैं।


अनौपचारिक शिक्षा के साधन Means of non-formal education

शिक्षा के अनौपचारिक साधन वह साधन होते हैं, जहाँ पर शिक्षा ग्रहण करने के किसी भी प्रकार के नियम और व्यवस्था का निर्धारण नहीं होता है। साधारण भाषा में हम कह सकते हैं,

कि अनौपचारिक शिक्षा के साधन वे संस्थाएँ वह केंद्र होते हैं, जहाँ पर स्पष्ट रूप से कोई ना तो शिक्षक होता है और ना ही कोई शिक्षार्थी होता है। यहाँ पर विद्यालय, महाविद्यालय के समान प्रवेश प्रक्रिया नहीं होती ना ही कोई निर्धारित पाठ्यक्रम होते हैं

और ना ही किसी प्रकार की परीक्षा प्रणाली होती है। शिक्षा के अनौपचारिक साधन के अंतर्गत हमें किसी भी प्रकार की शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होती ना ही किसी भी प्रकार के कठोर नियम को अपनाना पड़ता है।

अनौपचारिक शिक्षा ग्रहण करने के लिए कोई भी निश्चित स्थान नहीं होता है और ना ही कोई अधिक धन व्यय करने की जरूरत होती है। हम कहीं पर भी मित्र मंडली में, धार्मिक संस्थाओं में,

समाचार पत्र, मनोरंजन संस्थाओं, रेडियो टेलीविजन आदि के द्वारा अनौपचारिक शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं और यही सब अनौपचारिक शिक्षा के साधन कहलाते हैं।

दोस्तों आपने यहाँ पर शिक्षा के साधन (Means of education) के साथ अन्य तथ्य पढ़े। आशा करता हूँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. प्रयोजनवाद के अनुसार शिक्षा के उद्देश्य Objectives of education according to pragmatism
  2. शिक्षा क्या है शिक्षा का अर्थ What is education meaning of education
  3. राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 National education policy 2020


Post a Comment

और नया पुराने
close