शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य Objectives and Functions of Educational Supervision

शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य

शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य Objectives and Functions of Educational Supervision

हैलो दोस्तों नमस्कार आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य (Objectives and Functions of Educational Supervision) में।

दोस्तों इस लेख के माध्यम से आप शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य, शैक्षिक पर्यवेक्षण के कार्य के बारे में जानेंगे। तो आइये दोस्तों करते है शुरू आज का यह लेख शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य:-

शैक्षिक पर्यवेक्षण का अर्थ और परिभाषा

शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य Objectives of Educational Supervision

प्राचीन काल से लेकर वर्तमान समय तक तथा भविष्य में भी शिक्षक का स्थान समाज में सर्वोपरि स्थान माना जाता है, क्योंकि शिक्षक की एक वह व्यक्ति होता है,

जो समाज को विकास तथा प्रगति के पथ पर लाने का महत्वपूर्ण कार्य करता है, क्योंकि वह ऐसा कार्य करता है, जिसके द्वारा समाज तथा देश दोनों का ही विकास होता है और वह कार्य शिक्षा प्रदान करने का है।

सभी छात्र तथा छात्राओं को अर्थात देश की भावी पीढ़ी को शिक्षा प्रदान करने का कार्य शिक्षक का होता है। इसीलिए शिक्षाक का कार्य अब केवल ज्ञान प्रदान करना ही नहीं रह गया बल्कि छात्रों में वांछित व्यवहार लाकर उनके व्यवहार को परिवर्तित करना भी होता है।

छात्रों में विभिन्न प्रकार की आवश्यक मूल्यों का विकास करना प्रजातांत्रिक प्रणाली को सफल बनाने हेतु उनमें नैतिक मूल्यों का विकास करना आदि शिक्षा और शिक्षक के द्वारा ही किया जाता है।

इसीलिए शैक्षिक पर्यवेक्षण का क्षेत्र शिक्षा विशाल होता है। अतः इसके उद्देश्य अत्यंत महत्वपूर्ण हैं, इसीलिए शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्यों को निम्न प्रकार से प्रस्तुत किया जा सकता है:-

शैक्षिक पर्यवेक्षण का उद्देश्य होता है, विभिन्न शिक्षण संस्थानों के शिक्षण संबंधित कार्य की जो जटिलता होती है, उस जटिलता को सरलता में परिवर्तित करना कर्मचारियों में परस्पर आत्मविश्वास और सहयोग की भावना उत्पन्न करना।

शिक्षकों में हमेशा शिक्षण कार्य संबंधी निर्देशन देना, उन्हें सुझाव देना प्रेरित करना छात्र, शिक्षक और प्रधानाचार्य के मध्य मानवीय संबंधों को सुधारने का प्रयास करना।

शिक्षकों एवं अन्य कर्मचारियों की कार्य क्षमता एवं योग्यता में वृद्धि करना तथा शिक्षा कार्य को सामाजिक आवश्यकताओं तथा मूल्यों के अनुरूप बनाना।

शिक्षण अधिगम प्रक्रिया में होने वाले नवीन अनुसंधानों से शिक्षकों को परिचित कराना उनमें शैक्षिक सुधार करना तथा शिक्षा प्रक्रिया को अत्यधिक विकसित करना।

शैक्षिक पर्यवेक्षण का उद्देश्य शिक्षा सुधारों में पहल करना उन्हें विकसित करना, शिक्षण संस्थाओं के कार्यों का मूल्यांकन करना, शिक्षकों के लिए सेवा शिक्षा प्रदान करने की व्यवस्था संस्थानों को शैक्षिक उद्देश्यों की पूर्ति में सहायता करना। 

शिक्षकों की व्यवसायिक कुशलता में वृद्धि और विकास करना, वंशागति योजनाओं के निर्माण एवं क्रियान्वयन में मदद करना, विभिन्न शैक्षिक कार्यक्रम में शिक्षण संस्थान को बौद्धिक नेतृत्व करना।

शैक्षिक पर्यवेक्षण के कार्य Educational Supervision Tasks

आधुनिक समय में शैक्षिक पर्यवेक्षण का क्षेत्र बड़ा ही व्यापक और विकसित हो गया है। शैक्षिक पर्यवेक्षण शिक्षा विकास और तथा प्रभावशीलता का आधार बन गया है, जिसके परिणामस्वरूप शैक्षिक पर्यवेक्षण के अंतर्गत निम्न प्रकार के कार्यों का संपादन होता है:- 

  1. शैक्षिक क्रियाकलापों में समन्वय स्थापित करना तथा शैक्षिक नीतियों का निर्धारण करना।
  2. शैक्षिक प्रक्रिया से संबंधित व्यक्तियों की कार्यक्षमता में वृद्धि करना, विकास करना तथा मानवीय संबंधों में सुधार करके उनमें समन्वय स्थापित करना।
  3. शिक्षण संस्थानों में शिक्षण अधिगम संबंधित सामग्री उपलब्ध कराना, अधिगम परिस्थितियों में सुधार करना और विकास करना।
  4. पर्यवेक्षण की क्षमता का विकास करने के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करना छात्रों समाज तथा समुदाय के अनुकूल पाठ्यक्रम का निर्धारण करना।
  5. शिक्षण संस्थाओं में शैक्षिक वातावरण का निर्माण करना शैक्षिक कार्यकर्ताओं की दशा में सुधार करना।
  6. शैक्षिक कार्यकर्ताओं हेतु सेवाकालीन प्रशिक्षण की व्यवस्था करना, शिक्षकों को शैक्षिक कार्य में सहभागी बनाने के अवसर प्रदान करना, पृष्ठपोषण प्रदान करना आदि,
  7. शैक्षिक पर्यवेक्षण संपूर्ण शिक्षा प्रक्रिया की एक महत्वपूर्ण कड़ी होती है इसके अभाव में शिक्षा प्रक्रिया की प्रगति असंभव होने लगती है, इसलिए शैक्षिक व कार्यकर्ताओं प्रशासनिक अधिकारियों को चाहिए कि वे इस दिशा की ओर विशेष ध्यान देते रहे जिसमें वह शैक्षिक प्रक्रिया में सफल रहें तथा शिक्षा का विकास हो सके। 

दोस्तों इस लेख में शैक्षिक पर्यवेक्षण के उद्देश्य तथा कार्य (Objectives and Functions of Educational Supervision) पढ़े। आशा करता हुँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. शैक्षिक पर्यवेक्षण के प्रकार
  2. भारतीय शिक्षा नियोजन की विशेषताए
  3. शैक्षिक नियोजन क्या है उद्देश्य और आवश्यकता

Post a Comment

और नया पुराने
Blogger sticky
close